कागलिया गेरो रे मिठो बोल गुरु सा आवेला जद पावणा Lyrics, Video, Bhajan, Bhakti Songs
कागलिया गेरो रे मिठो बोल गुरु सा आवेला जद पावणा Lyrics, Video, Bhajan, Bhakti Songs

कागलिया गेरो रे मिठो बोल गुरु सा आवेला जद पावणा लिरिक्स

Kagaliya Gero Re Mitho Bol Gurusa Aavela Jad Pawana

कागलिया गेरो रे मिठो बोल गुरु सा आवेला जद पावणा लिरिक्स (हिन्दी)

कागलिया गेरो रे मिठो बोल,
गुरु सा आवेला जद पावणा,
आवेला जद पावणा,
आवेला जद पावणा,
कागलियां गेरो रे मीठे बोल,
गुरुसा आवेला जद पावणा।।

सोने चौच मंडाय दु थारी,
हीरा हजारी टोप,
चांदी चढ़ाऊं पंख्या थारी,
गले सोने री डोर,
कागलियां गेरो रे मीठे बोल,
गुरु सा आवेला जद पावणा।।

जिण मार्ग सतगुरु सा आवे,
फुलड़ा देव बिछाय,
पलकों रा पावड़िया करने,
आसन देऊ बिठाय,
कागलियां गेरो रे मीठे बोल,
गुरु सा आवेला जद पावणा।।

प्रीत घिरतरा भोजन परोसु,
कर मनवार जीमाऊ,
मीठा वचन मिश्री रा घोलू,
पंखी वाव ढूलाऊं,
कागलियां गेरो रे मीठे बोल,
गुरु सा आवेला जद पावणा।।

शब्द सुनावे ज्ञान बतावे,
दुरमति दूर भगावे,
उदय सिंह आनंद में डूबे,
तू बोले गुरु आवे,
कागलियां गेरो रे मीठे बोल,
गुरु सा आवेला जद पावणा।।

कागलिया गेरो रे मिठो बोल,
गुरु सा आवेला जद पावणा,
आवेला जद पावणा,
आवेला जद पावणा,
कागलियां गेरो रे मीठे बोल,
गुरु सा आवेला जद पावणा।।

गायक उदय सिंह जी राजपुरोहित।

कागलिया गेरो रे मिठो बोल गुरु सा आवेला जद पावणा Video

कागलिया गेरो रे मिठो बोल गुरु सा आवेला जद पावणा Video

Browse all bhajans by uday singh rajpurohit

Browse Temples in India