कहना मत श्याम किसी से मैं खाटू आता हूँ भजन लिरिक्स

कहना मत श्याम किसी से,
मैं खाटू आता हूँ,
मांगकर तुझसे,
मैं अपना घर चलाता हूँ,
कहना मत श्याम किसी सें,
मैं खाटू आता हूँ।।



मुझको गैरो की नहीं चिंता,
अपनों का डर है,
बस यही खौफ श्याम मेरे,
दिल के अंदर है,
अपनों को जो पता चला,
तो वो रुला देंगे,
सरे बाजार में मेरी,
लाज वो उड़ा देंगे,
मुझे जीने नहीं देंगे,
मेरे अपने ही मुझे,
जैसे तैसे मैं लाज,
अपनी ये बचाता हूँ,
कहना मत श्याम किसी सें,
मैं खाटू आता हूँ।।



सबको भ्रम है मेरे कांधो पे,
घर ये चलता है,
मैं जानता हूँ मेरा कुनबा,
कैसे पलता है,
जो राज ये बना हुआ है,
वो राज रहने दो,
जो समझते है लोग,
वो उनको समझने दो,
सिवा तुम्हारे किसी को,
नहीं है इसका पता,
कहाँ से लाता हूँ,
मैं और कहाँ से खाता हूँ,
कहना मत श्याम किसी सें,
मैं खाटू आता हूँ।।



गिरते निशान को,
दुनिया नहीं उठाती कभी,
लाज एक बार गई तो,
वो नहीं आती कभी,
लाज हाथों में तुम्हारे,
लाज तुम रखना,
आज वादा यही ‘शर्मा’ से,
श्याम तुम करना,
आने जाने की खबर,
सबसे तुम छुपाओगे,
मैं भी ये बात सभी से,
प्रभु छुपाता हूँ,
कहना मत श्याम किसी सें,
मैं खाटू आता हूँ।।



कहना मत श्याम किसी से,
मैं खाटू आता हूँ,
मांगकर तुझसे,
मैं अपना घर चलाता हूँ,
कहना मत श्याम किसी सें,
मैं खाटू आता हूँ।।

Download PDF (कहना मत श्याम किसी से मैं खाटू आता हूँ भजन लिरिक्स)

कहना मत श्याम किसी से मैं खाटू आता हूँ भजन लिरिक्स

Download PDF: कहना मत श्याम किसी से मैं खाटू आता हूँ भजन लिरिक्स

कहना मत श्याम किसी से मैं खाटू आता हूँ Lyrics Transliteration (English)

kahana mat shyaam kisee se,
main khaatoo aata hoon,
maangakar tujhase,
main apana ghar chalaata hoon,
kahana mat shyaam kisee sen,
main khaatoo aata hoon..

mujhako gairo kee nahin chinta,
apanon ka dar hai,
bas yahee khauph shyaam mere,
dil ke andar hai,
apanon ko jo pata chala,
to vo rula denge,
sare baajaar mein meree,
laaj vo uda denge,
mujhe jeene nahin denge,
mere apane hee mujhe,
jaise taise main laaj,
apanee ye bachaata hoon,
kahana mat shyaam kisee sen,
main khaatoo aata hoon..

sabako bhram hai mere kaandho pe,
ghar ye chalata hai,
main jaanata hoon mera kunaba,
kaise palata hai,
jo raaj ye bana hua hai,
vo raaj rahane do,
jo samajhate hai log,
vo unako samajhane do,
siva tumhaare kisee ko,
nahin hai isaka pata,
kahaan se laata hoon,
main aur kahaan se khaata hoon,
kahana mat shyaam kisee sen,
main khaatoo aata hoon..

girate nishaan ko,
duniya nahin uthaatee kabhee,
laaj ek baar gaee to,
vo nahin aatee kabhee,
laaj haathon mein tumhaare,
laaj tum rakhana,
aaj vaada yahee ‘sharma’ se,
shyaam tum karana,
aane jaane kee khabar,
sabase tum chhupaoge,
main bhee ye baat sabhee se,
prabhu chhupaata hoon,
kahana mat shyaam kisee sen,
main khaatoo aata hoon..

kahana mat shyaam kisee se,
main khaatoo aata hoon,
maangakar tujhase,
main apana ghar chalaata hoon,
kahana mat shyaam kisee sen,
main khaatoo aata hoon..

Browse all bhajans by vimal dixit

Browse Temples in India