महाकाली आरी रे काली केश विकराल हाथ में कटारी रे Lyrics, Video, Bhajan, Bhakti Songs
महाकाली आरी रे काली केश विकराल हाथ में कटारी रे Lyrics, Video, Bhajan, Bhakti Songs

महाकाली आरी रे काली केश विकराल हाथ में कटारी रे लिरिक्स

Mahakali Aari Re Garba

महाकाली आरी रे काली केश विकराल हाथ में कटारी रे लिरिक्स (हिन्दी)

महाकाली आरी रे,
ओ काली केश विकराल,
हाथ में कटारी रे,
ओ डट रे संकट थोड़ी देर,
महांकाली आरी रे।।

जब तक माँ मेरे साथ में तू,
कुछ न बिगाड़ पायेगा,
मेरे पीछे जोर जमावे,
उसके आगे हार जायेगा,
खप्पर धारी रे,
ओ डट रे संकट थोड़ी देर,
महांकाली आरी रे।।

जो शक्ति से अनजान तू,
थने महिमा आज बताऊ में,
शुम्भ निशुम्भ मारन वाली,
महाकाली से मिलवाउ में,
रक्त पीवणनारी रे,
ओ डट रे संकट थोड़ी देर,
महांकाली आरी रे।।

माँ राक्षश ने संगार के,
पहने मुंडो की माला रे,
जब लगे ललकार हे,
उसकी लगे जुबा पर ताला रे,
क्रोध में आरी रे,
ओ डट रे संकट थोड़ी देर,
महांकाली आरी रे।।

महाकाली की बड़ी लाड़ली,
महिमा करिश्मा गावे हे,
तेरा धर्म भगत भी कहता,
तेरे बिना रहा न जावे हे,
मिलण आरी रे,
ओ डट रे संकट थोड़ी देर,
महांकाली आरी रे।।

महाकाली आरी रे,
ओ काली केश विकराल,
हाथ में कटारी रे,
ओ डट रे संकट थोड़ी देर,
महांकाली आरी रे।।

प्रेषक और गायक धर्मेंद्र तंवर।

महाकाली आरी रे काली केश विकराल हाथ में कटारी रे Video

महाकाली आरी रे काली केश विकराल हाथ में कटारी रे Video

Browse all bhajans by dharmendra tanvar

Browse Temples in India