ओ कान्हा आ रे तू आजा मोहन गिरधारी Lyrics, Video, Bhajan, Bhakti Songs
ओ कान्हा आ रे तू आजा मोहन गिरधारी Lyrics, Video, Bhajan, Bhakti Songs

ओ कान्हा आ रे तू आजा मोहन गिरधारी लिरिक्स

O Kanha Aa Re Tu Aaja Mohan Girdhari

ओ कान्हा आ रे तू आजा मोहन गिरधारी लिरिक्स (हिन्दी)


तर्ज ओ बाबुल प्यारे।

ओ कान्हा आ रे,
तू आजा मोहन गिरधारी,
की तरसे गुजरिया सारी,
पुकारे राधा बेचारी,
ओ कान्हा आ रें।।

सुना पड़ा है मधुबन सारा,
तेरे बिना ओ कन्हाई,
ओ कान्हा रे,
सुना पड़ा है मधुबन सारा,
तेरे बिना ओ कन्हाई,
आजा सुना जमना तट,
तुझ बिन सुना है पनघट,
सुना सुना गुजरियों का मन,
ओ कान्हा आ रें।।

यमुना किनारे गुजरियों के,
कपडों को कौन चुराए,
ओ कान्हा रे,
यमुना किनारे गुजरियों के,
कपडों को कौन चुराए,
सुनी ग्वालों की टोली,
सुने तेरे हमजोली,
सुने सुने है सबके नयन,
ओ कान्हा आ रें।।

अपना बना के क्यों बिसराया,
ओ निर्मोही बता जा,
ओ कान्हा रे,
अपना बना के क्यों बिसराया,
ओ निर्मोही बता जा,
आजा माखन खा ले रे,
हमको लाख सता ले रे,
हर्ष सबकुछ करेंगे सहन,
ओ कान्हा आ रें।।

ओ कान्हा आ रे,
तू आजा मोहन गिरधारी,
की तरसे गुजरिया सारी,
पुकारे राधा बेचारी,
ओ कान्हा आ रें।।

Singer Mukesh Bagda Ji

ओ कान्हा आ रे तू आजा मोहन गिरधारी Video

ओ कान्हा आ रे तू आजा मोहन गिरधारी Video

Browse all bhajans by Mukesh Bagda

Browse Temples in India