समझ के सूरज को फल जिसने | Lyrics, Video | Hanuman Bhajans
समझ के सूरज को फल जिसने | Lyrics, Video | Hanuman Bhajans

समझ के सूरज को फल जिसने लिरिक्स

samjh ke suraj ko phal jisne pal me grass banaya

समझ के सूरज को फल जिसने लिरिक्स (हिन्दी)

समझ के सूरज को फल जिसने पल में ग्रास बनाया,
दर विकराल रूप इक पल में खाख में लंका को मिलाया,

मात अंजना का जो लाडला पूत पवन कहलाया,
जिस की ताकत की नहीं उपमा पर्वत जिस ने उठाया,
लाये सजीवन लक्ष्मण जी को जिस ने जीवन नया दिलाया,
समझ के सूरज को फल जिसने पल में ग्रास बनाया,

मन का मनका माला करदी हरी दर्श नहीं पाया.
मात सिया की शंका मिटा दी चीर के सीना दिखया,
राम भक्त न होगा तुम सा ऐसा वर तुम ने है पाया,हनुमत पाया,
समझ के सूरज को फल जिसने पल में ग्रास बनाया,

Download PDF (समझ के सूरज को फल जिसने)

समझ के सूरज को फल जिसने

Download PDF: समझ के सूरज को फल जिसने

समझ के सूरज को फल जिसने Lyrics Transliteration (English)

samajha ke sUraja ko phala jisane pala meM grAsa banAyA,
dara vikarAla rUpa ika pala meM khAkha meM laMkA ko milAyA,

mAta aMjanA kA jo lADalA pUta pavana kahalAyA,
jisa kI tAkata kI nahIM upamA parvata jisa ne uThAyA,
lAye sajIvana lakShmaNa jI ko jisa ne jIvana nayA dilAyA,
samajha ke sUraja ko phala jisane pala meM grAsa banAyA,

mana kA manakA mAlA karadI harI darsha nahIM pAyA.
mAta siyA kI shaMkA miTA dI chIra ke sInA dikhayA,
rAma bhakta na hogA tuma sA aisA vara tuma ne hai pAyA,hanumata pAyA,
samajha ke sUraja ko phala jisane pala meM grAsa banAyA,

समझ के सूरज को फल जिसने Video

समझ के सूरज को फल जिसने Video

Browse all bhajans by sagar sufi

Browse Temples in India