कई पंखा ढुला रियो छाया में रामजी ने भूल गयो माया में Lyrics, Video, Bhajan, Bhakti Songs
कई पंखा ढुला रियो छाया में रामजी ने भूल गयो माया में Lyrics, Video, Bhajan, Bhakti Songs

कई पंखा ढुला रियो छाया में रामजी ने भूल गयो माया में लिरिक्स

Ram Ji Ne Bhul Gayo Maya Me

कई पंखा ढुला रियो छाया में रामजी ने भूल गयो माया में लिरिक्स (हिन्दी)

कई पंखा ढुला रियो छाया में,
रामजी ने भूल गयो माया में।।

कलंग कामणी को रस थु भोग्यो,
विषय वासना में आन्दो होग्यो,
जु सांड जरूखे भाया गाया में,
रामजी ने भूल गयो माया में,
कई पंखा ढुला रयो छाया में,
रामजी ने भूल गयो माया में।।

कुटुंब कबीला में गाड़ो फसयो,
देख देख मन में बहू हसयो,
रह गयो रे छोरा छोरिया की सगाईया में,
रामजी ने भूल गयो माया में,
कई पंखा ढुला रयो छाया में,
रामजी ने भूल गयो माया में।।

ऊंचा ऊंचा भवन बनाया,
खून चूस गरीबों का खाया,
जासी रे नरक की खायां में,
रामजी ने भूल गयो माया में,
कई पंखा ढुला रयो छाया में,
रामजी ने भूल गयो माया में।।

चेतन भारती यू चेतावे,
ऐसा अवसर फिर कब आवे,
हरि भजन करो रे इस काया में,
रामजी ने भूल गयो माया में,
कई पंखा ढुला रयो छाया में,
रामजी ने भूल गयो माया में।।

कई पंखा ढुला रियो छाया में,
रामजी ने भूल गयो माया में।।

गायक पुरण भारती जी महाराज।

कई पंखा ढुला रियो छाया में रामजी ने भूल गयो माया में Video

कई पंखा ढुला रियो छाया में रामजी ने भूल गयो माया में Video

Browse all bhajans by puran bharti ji maharaj
See also  बाला जी ने लाड लड़ावे माता अंजनी | Lyrics, Video | Hanuman Bhajans

Browse Temples in India