रोज रोज का ओलमा क्यों ल्यावे म्हारा कानुड़ा लिरिक्स

Roj Roj Ka Olba Kyo Lyave Mara Kanuda

रोज रोज का ओलमा क्यों ल्यावे म्हारा कानुड़ा लिरिक्स (हिन्दी)

रोज रोज का ओलमा क्यों,
ल्यावे म्हारा कानुड़ा।।


भला घरा को लाडलो,
बदनामी होवे र क़ानूडा,
रोज रोज का ओलमा क्यो,
ल्यावे म्हारा कानुड़ा।।


गुजरिया का चक्कर में क्यों,
पड़ ग्यो रे म्हारा क़ानूडा,
रोज रोज का ओलमा क्यो,
ल्यावे म्हारा कानुड़ा।।


गोकुल का कांकड़ में गाया,
चरावे म्हारा क़ानूडा,
रोज रोज का ओलमा क्यो,
ल्यावे म्हारा कानुड़ा।।


मने एकली देख मटकी,
फोड़े रे म्हारा क़ानूडा,
रोज रोज का ओलमा क्यो,
ल्यावे म्हारा कानुड़ा।।


जमना नहाती गुजरिया का,
चीर चुरावे क़ानूडा,
रोज रोज का ओलमा क्यो,
ल्यावे म्हारा कानुड़ा।।


रोज रोज का ओलमा क्यों,
ल्यावे म्हारा कानुड़ा।।

लेखक सिंगर प्रकाश जी माली,
मेहंदवास।
प्रेषक -सिंगर मुकेश बंजारा,
बनियानी।
मो.7073387766

Download PDF (रोज रोज का ओलमा क्यों ल्यावे म्हारा कानुड़ा)

Download the PDF of song ‘Roj Roj Ka Olba Kyo Lyave Mara Kanuda ‘.

Download PDF: रोज रोज का ओलमा क्यों ल्यावे म्हारा कानुड़ा

Roj Roj Ka Olba Kyo Lyave Mara Kanuda Lyrics (English Transliteration)

roja roja kA olamA kyoM,
lyAve mhArA kAnuड़A||


bhalA gharA ko lADalo,
badanAmI hove ra क़AnUDA,
roja roja kA olamA kyo,
lyAve mhArA kAnuड़A||


gujariyA kA chakkara meM kyoM,
paड़ gyo re mhArA क़AnUDA,
roja roja kA olamA kyo,
lyAve mhArA kAnuड़A||


gokula kA kAMkaड़ meM gAyA,
charAve mhArA क़AnUDA,
roja roja kA olamA kyo,
lyAve mhArA kAnuड़A||


mane ekalI dekha maTakI,
phoड़e re mhArA क़AnUDA,
roja roja kA olamA kyo,
lyAve mhArA kAnuड़A||


jamanA nahAtI gujariyA kA,
chIra churAve क़AnUDA,
roja roja kA olamA kyo,
lyAve mhArA kAnuड़A||


roja roja kA olamA kyoM,
lyAve mhArA kAnuड़A||

lekhaka siMgara prakAsha jI mAlI,
mehaMdavAsa|
preShaka -siMgara mukesha baMjArA,
baniyAnI|
mo.7073387766

रोज रोज का ओलमा क्यों ल्यावे म्हारा कानुड़ा Video

रोज रोज का ओलमा क्यों ल्यावे म्हारा कानुड़ा Video

Browse Temples in India