रोये जो श्याम का प्रेमी उसे श्याम ही धीर बँधाए भजन लिरिक्स

Roye Jo Shyam Ka Premi Use Shyam Hi Dheer Bandhaye

रोये जो श्याम का प्रेमी उसे श्याम ही धीर बँधाए भजन लिरिक्स (हिन्दी)

रोये जो श्याम का प्रेमी,
उसे श्याम ही धीर बँधाए,
जिसे सांवरिया ही रुलाए,
उसे कौन कौन हंसाए,
उसे कौन कौन हंसाए।।

तर्ज चिंगारी कोई भड़के।


दौलत शोहरत मत मांगो,
बस मांगो साथ प्रभु का,
कैसी भी कोई घडी हो,
हो सर पे हाथ प्रभु का,
जो प्रेमी राह से भटके,
प्रभु मंजिल तक पहुंचाए,
जो प्रभु से हाथ छुड़ाए,
उसे कौन चलाए,
रोए जो श्याम का प्रेमी।।


सुख दुःख आते जाते है,
ये खेल है इस जीवन का,
कर्मो की बात है प्यारे,
ये मौका प्रभु सुमिरन का,
जो भाव भजन में डूबे,
उन्हें सत्संग पार लगाए,
जो सत्संग में इतराए,
उन्हें कौन बचाए,
रोए जो श्याम का प्रेमी।।


जो शरणागत हो जाता,
उसे सांवरा गले लगाए,
रोमी के हर संकट में,
ये मोरछड़ी लहराए,
जो हार के दर पे आए,
सांवरिया जीत दिलाए,
सांवरिया जिसको हराए,
उसे कौन जिताए,
Bhajan Diary,
रोए जो श्याम का प्रेमी।।


रोये जो श्याम का प्रेमी,
उसे श्याम ही धीर बँधाए,
जिसे सांवरिया ही रुलाए,
उसे कौन कौन हंसाए,
उसे कौन कौन हंसाए।।

Singer Sanjay Mittal Ji
Lyrics Romi Ji

Download PDF (रोये जो श्याम का प्रेमी उसे श्याम ही धीर बँधाए भजन )

Download the PDF of song ‘Roye Jo Shyam Ka Premi Use Shyam Hi Dheer Bandhaye ‘.

Download PDF: रोये जो श्याम का प्रेमी उसे श्याम ही धीर बँधाए भजन

Roye Jo Shyam Ka Premi Use Shyam Hi Dheer Bandhaye Lyrics (English Transliteration)

roye jo shyAma kA premI,
use shyAma hI dhIra ba.NdhAe,
jise sAMvariyA hI rulAe,
use kauna kauna haMsAe,
use kauna kauna haMsAe||

tarja chiMgArI koI bhaDa़ke|


daulata shoharata mata mAMgo,
basa mAMgo sAtha prabhu kA,
kaisI bhI koI ghaDI ho,
ho sara pe hAtha prabhu kA,
jo premI rAha se bhaTake,
prabhu maMjila taka pahuMchAe,
jo prabhu se hAtha Chuड़Ae,
use kauna chalAe,
roe jo shyAma kA premI||


sukha duHkha Ate jAte hai,
ye khela hai isa jIvana kA,
karmo kI bAta hai pyAre,
ye maukA prabhu sumirana kA,
jo bhAva bhajana meM DUbe,
unheM satsaMga pAra lagAe,
jo satsaMga meM itarAe,
unheM kauna bachAe,
roe jo shyAma kA premI||


jo sharaNAgata ho jAtA,
use sAMvarA gale lagAe,
romI ke hara saMkaTa meM,
ye moraChaड़I laharAe,
jo hAra ke dara pe Ae,
sAMvariyA jIta dilAe,
sAMvariyA jisako harAe,
use kauna jitAe,
Bhajan Diary,
roe jo shyAma kA premI||


roye jo shyAma kA premI,
use shyAma hI dhIra ba.NdhAe,
jise sAMvariyA hI rulAe,
use kauna kauna haMsAe,
use kauna kauna haMsAe||

Singer Sanjay Mittal Ji
Lyrics Romi Ji

रोये जो श्याम का प्रेमी उसे श्याम ही धीर बँधाए भजन Video

रोये जो श्याम का प्रेमी उसे श्याम ही धीर बँधाए भजन Video

Browse Temples in India