सब कहते है हारे का सहारा सांवरे भजन लिरिक्स

सब कहते है हारे का सहारा सांवरे भजन लिरिक्स

सब कहते है हारे का सहारा सांवरे,
मैं भी हार के आई तेरे द्वार सांवरे,
नीले चढ़के तू आजा एक बार सांवरे,
नीले चढ़के तू आजा एक बार सांवरे,
मैं तो थक सी गई तुझे पुकार सांवरे,
सब कहते हैं हारे का सहारा साँवरे,
मैं भी हार के आई तेरे द्वार सांवरे।।



मेरी लागी लगन मत तोडना,
साथ मेरा भी निभाना मत छोड़ना,
तेरे संग संग जीना मर जाना सांवरे,
तेरे संग संग जीना मर जाना सांवरे,
तू ना आया तो हंसेगा ये जहान सांवरे,
सब कहते हैं हारे का सहारा साँवरे,
मैं भी हार के आई तेरे द्वार सांवरे।।



द्रौपदी की आके लाज को बचाए तू,
बाबा हाथी को भी पल में छुड़ाए तू,
दीन दुखियों के बनते सहारे सांवरे,
दीन दुखियों के बनते सहारे सांवरे,
मेरी सुनलो ना करुण पुकार सांवरे,
सब कहते हैं हारे का सहारा साँवरे,
मैं भी हार के आई तेरे द्वार सांवरे।।



तेरी पकड़ कलाई ‘स्वीटी’ नहीं छोड़ेगी,
तेरे दर से ये मुख नहीं मोड़ेगी,
तू करता है ‘सत्या’ से दुलार सांवरे,
तू करता है ‘सत्या’ से दुलार सांवरे,
जग झूठा सच्चा तेरा दरबार सांवरे,
सब कहते हैं हारे का सहारा साँवरे,
मैं भी हार के आई तेरे द्वार सांवरे।।



सब कहते है हारे का सहारा सांवरे,
मैं भी हार के आई तेरे द्वार सांवरे,
नीले चढ़के तू आजा एक बार सांवरे,
नीले चढ़के तू आजा एक बार सांवरे,
मैं तो थक सी गई तुझे पुकार सांवरे,
सब कहते हैं हारे का सहारा साँवरे,
मैं भी हार के आई तेरे द्वार सांवरे।।