ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला, कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा, Lyrics Bhajans | Bhakti Songs

ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला, कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा, Lyrics

Zari Ki Pagadi Baandhe – Khatu Shyam Bhajan By Gaurav Krishna Goswamiji

ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला, कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा, Lyrics in Hindi

ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,कानो मेी कुंडल साजे सिर मोर मुकुट बिराजे,
कानो मेी कुंडल साजे सिर मोर मुकुट बिराजे,
सखिया पगली होती जब जब होंठो पे बंसी बाजे,
है चंदा ये सावरा तारे है ग्वाल बाला,
है चंदा ये सावरा तारे है ग्वाल बाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे, लत घुंघराले बाल, तेरे कारे कारे गाल,
लत घुंघराले बाल, तेरे कारे कारे गाल,
सुंदर श्याम सलोना तेरी टेढ़ी मेधी चाल
हवा मेी सर सर करता तेरा पीताम्बर मतवाला,
हवा मेी सर सर करता तेरा पीताम्बर मतवाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे,मुख पे माखन माल्टा तू बाल घुटने के चलता,
मुख पे माखन माल्टा तू बाल घुटने के चलता,
देख यशोदा भाग को देव का मॅन भी जलता
माथे पे तिलक है सोहे आँखो मेी काजल है डाला,
माथे पे तिलक है सोहे आँखो मेी काजल है डाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे, तू जब बंसी बजाए तब मोर भी नाच दिखाए
तू जब बंसी बजाए तब मोर भी नाच दिखाए
यमुना मेी लहरे उठती और कोयल कुहकू गाए,
हांत मेी कंगन पहने और गाल बेयजंटी माला,
हांत मेी कंगन पहने और गाल बेयजंटी माला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे,ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा,
ज़ारी की पगड़ी बाँधे,

ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला, कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा, Lyrics Transliteration (English)

ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला, कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा, Video

ज़री की पगड़ी बाँधे सुंदर आँखो वाला, कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे प्यारा, Video