माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं भजन लिरिक्स

Maa Ke Dil Jaisa Duniya Mein Koi Dil Nahi

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं भजन लिरिक्स (हिन्दी)

इससे बढ़ के कोई शय भी,
कोमल नहीं,
माँ के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


माँ के भक्तजनों थाम के दिल सुनों,
माँ के दिल की कहानी सुनाता हूँ मैं,
पीड़ा दुःख से घिरी आसुओं से भरी,
सच्ची ममता के दर्शन करता हूँ मैं,
सच्ची ममता के दर्शन करता हूँ मैं,
दुखिया एक नारी थी भाग्य की मारी थी,
सुखदेवी था नाम पर सुख ना मिला,
उसके सिन्दूर को बिंदिया के नूर को,
हाय ज़ालिम मुक़दार ने छीन था लिया,
एक नूरे-नज़र प्यार लख्ते जिगर,
उसकी ममता की छाँव में पलता रहा,
माँ की ऊँगली पकड़ चलके इधर उधर,
कभी गिरता कभी वो संभलता रहा,
माँ को रहता था डर कोई लगे ना नज़र,
काला गाल पे टीका लगाती थी वो,
हो के बस प्यार के मिर्चो को वार के,
जलते चूल्हे मे निसदिन गिराती थी वो,
उसे आँखों से करती वो ओझल नहीं,
उसे आँखों से करती वो ओझल नहीं,
मां के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


कपड़े सी सी के वो आंसू पी पी के वो,
अपने बेटे पे खुशियाँ लूटाती रही,
अबला की बेबसी करके फाकाकशी,
भूखी खुद रह के उसको खिलाती रही,
दिन गुज़रते रहे रो रो कटते रहे,
कभी बच्चे को गम ना था करने दिया,
चाहे लाचार थी दुःख से दो चार थी,
साया दुखो का उसपे ना पड़ने दिया,
मन में था हौसला कल को हो के बड़ा,
मेरे कदमो में खुशियां बीछा देगा ये,
अच्छे दिन आएंगे दूर गम जाएंगे,
मेरे कांटो को कलियाँ बना देगा ये,
अम्बे मैया के दर उसका करने शुकर,
साथ बेटे के एक दिन जाउंगी मैं,
घर में आए बहु परियों सी हूबहू,
मांग मन्नत भवानी से आऊंगी मैं,
दूर मुझसे मेरी अब तो मंज़िल नहीं,
दूर मुझसे मेरी अब तो मंज़िल नहीं
मां के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


दे के ममता दुलार चाव कर बेशुमार,
रोज़ सपने ही सपने संजोती रही,
कभी मुँह चुमती उस को ले झूमती,
चाहे परदे में निशदिन ही रोती रही,
तारा आँखों का वो माँ का प्यारा था जो,
वक्त के साथ एक दिन बड़ा हो गया,
माँ के बलिदान की कोई कदर ना रही,
बुरी संगत की दलदल में वो खो गया,
एैबो से घिर गया इस कदर गिर गया,
गालियाँ तक था माँ को सुनाने लगा,
मेहनतो का जो धन एक चंडाल बन,
बेहयाई से वो था लुटाने लगा,
मैया रोती रही आहे भरी रही,
हाय सोचा था क्या और क्या हो गया,
सपना टुटा है क्यों भाग्य फुटा है क्यों,
क्यों भलाइयों का बदला बुरा हो गया,
चाह जो था हुआ उस को हासिल नही
मां के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


वो दुराचारी बन हो गया बदचलन,
फंस गया गलत लड़की के प्रेम जाल में,
जितना चिल्लाती माँ उसको समझती माँ,
उतना ज्यादा वो डूब था जंजाल में,
रोज लड़की से मिल उसका कहता था दिल,
तुझ से शादी रचाने को जी चाहता,
तुझे दुल्हन बना डोली में बिठा,
घर अपने ले जाने को जी चाहता,
तेरे सर की कसम मेरे प्यारे सनम,
तेरे बिन अब तो मुझ से जिया जाए ना,
तुम को जो करूँ तुझपे जा वार दूँ,
पर जुदाई का विष ये पिया जाये ना
लड़की ने कहा गर मुझसे वफ़ा,
दिल अपनी तू माँ के मुझे ला के दे,
जो तू इतना करे मेरा वादा है ये,
तो मई जाउंगी शान से घर में तेरे,
बड़ा आसान है काम मुश्किल नहीं
मां के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


अँधा हो प्यार में झूठे ऐतबार में,
हाय लेके छुरी अपने घर आ गया,
माँ को कुछ ना पता होने वाला है क्या,
बेटा ढाने को क्या है कहर आ गया,
माँ ने रोज़ की तरह खाना लाके दिया,
और सौ सौ दुआए भी देने लगी,
लाल समझो मेरे सदके जाऊं तेरे,
सच्ची ममता बलाएं थी लेने लगी,
बता शैतान था हुआ हैवान था,
झूठी उल्फत माँ की खुशी जल गयी,
जन्म जिसने दिया दूध जिसका पिया,
उसके दिल पे ही उसकी छुरी चल गयी,
खून माँ का पियो बेटा जुग जुग जियो,
तेरी हरकत से माता का मन खिल गया,
मरते मरते यही माँ ने आवाज दी,
मेरी ममता का मुझको सीला मिल गया,
अपने कातिल को समझे जो कातिल नहीं
मां के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


बेहया बेरहम करके ऐसा करम,
भागा लड़की के घर था चला जा रहा,
जो था वादा किया वो निभा है दिया,
अपनी मक्कारी पर था वो इतरा रहा,
चलते चलते तभी उसको ठोकर लगी,
और धरती पे मुँह के वो बल गिर गया,
हाथो से फिसल गया माँ का वो दिल,
इतना माँ की दुआओ का फल गिर गया,
बोला माता का दिल मेरे लाल संभल,
कोई तेरी वफ़ा में खोंट तो नहीं,
तेरा होए रे भला मुझे सच सच बता
कही तुझ को लगी कोई चोंट तो नहीं,
मेरे दिल को उठा दिल को दिल से लगा,
इस दिल में बड़ा प्यार तेरे लिए,
दिल हरदम मेरा देता दिल से दुआ,
दिल ये कुर्बान सौ बार तेरे लिए,
माँ रहम दिल है तुझ जैसी संगदिल नहीं,
मां के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


लेके थोड़ा सा दम बेअकल बेशरम,
दिल माँ का उठा के चला वो गया,
खूंखार वो पशु डाल माँ का लहू,
करना रौशन वो चाहे वफ़ा का दिया,
प्रेमिका के वो घर फक्र से पहुंचकर,
बोला माँ का मैं दिल ये लाया मेरी जान,
इस जहाँ में कही कोई मुझसा नहीं,
मैंने कर लिया पास ये इम्तेहान,
पागलपन देखकर बोली वो चीखकर,
अरे वहशी दरिंदे ये क्या कर दिया,
धरती फट जाएगी प्रलय आ जाएगी,
तूने ममता को जग में तबाह कर दिया
तेरे जैसे अगर हुए और भी बशर,
माँ बेटो को देगी जनम ना कभी,
रोना आता मुझे लाख लानत तुझे,
मेरे घर से ओ जालिम निकल जा अभी,
तू मेरे प्यार के अब तो काबिल नहीं
मां के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


उसकी फटकार से लानतों की मार से,
सर पिट के कलंकी वो रोने लगा,
मैंने क्या कर दिया खून माँ का किया,
अपने किये पे शर्मसार होने लगा,
माँ का दिल देखकर माथे को टेककर,
बोला हे जननी मैया मुझे माफ़ कर,
मैं हूँ पापी बड़ा सर झुकाए खड़ा,
हो सके तो ये चोला मेरा साफ़ कर,
अब मैं जाऊं कहाँ मुँह छुपाऊ कहाँ,
मैंने खुद को गुनाहों में गर्क कर लिया,
तू तो निर्दोष माँ तुझसा कोई कहाँ,
मैंने जीवन ये अपना नरक कर लिया,
जो किया सोच कर बालो को नोच कर,
वो जमी पे था सर को पटकने लगा,
लोग धिक्कारते पत्थर भी मारते,
वो पागल हो दर दर भटकने लगा,
सभी कहते ये माफ़ी के काबिल नहीं
माँ के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


बेड़ियो में जकड़ पुलिस ले गयी पकड़,
मौत सामने खड़ी देख वो डर गया,
खौफ इतना बढ़ जो वो सह ना सका,
पागल खाने में रो रो के वो मर गया,
माँ के भक्तो सुनो इससे कुछ सबक लो,
दिल भूले से माँ का दुखाना नहीं,
ये समझ लो सभी माँ ने आह जो भरी,
लोक परलोक कही भी ठिकाना नहीं,
अम्बे माँ के भवन पीछे रखना कदम,
पहले घर बैठी माँ के चरण चुम लो,
उसकी आशीष ले ममता चुनरी तले,
सच्ची जन्नत के करके दरश झूम लो,
घर में भूखी है माँ बहार लंगर लगा,
ऐसे इंसा कभी बक्शे जाते नहीं,
माँ को पीड़ा से भर जा के दाती के दर,
शेरोवाली का वो प्यार पाते नहीं,
माँ सा निर्दोष गुरु कोई कामिल नहीं,
Bhajan Diary Lyrics,
माँ के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।


इससे बढ़ के कोई शय भी,
कोमल नहीं,
माँ के दिल जैसा,
दुनिया में कोई दिल नहीं,
माँ का दिल, माँ का दिल,
माँ का दिल, माँ का दिल।।

Singer Sonu Nigam
Upload By Singer Yogesh Govindani
7999175040

Download PDF (माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं भजन )

Download the PDF of song ‘Maa Ke Dil Jaisa Duniya Mein Koi Dil Nahi ‘.

Download PDF: माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं भजन

Maa Ke Dil Jaisa Duniya Mein Koi Dil Nahi Lyrics (English Transliteration)

isase baढ़ ke koI shaya bhI,
komala nahIM,
mA.N ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


mA.N ke bhaktajanoM thAma ke dila sunoM,
mA.N ke dila kI kahAnI sunAtA hU.N maiM,
pIड़A duHkha se ghirI AsuoM se bharI,
sachchI mamatA ke darshana karatA hU.N maiM,
sachchI mamatA ke darshana karatA hU.N maiM,
dukhiyA eka nArI thI bhAgya kI mArI thI,
sukhadevI thA nAma para sukha nA milA,
usake sindUra ko biMdiyA ke nUra ko,
hAya ज़Alima muक़dAra ne ChIna thA liyA,
eka nUre-naज़ra pyAra lakhte jigara,
usakI mamatA kI ChA.Nva meM palatA rahA,
mA.N kI U.NgalI pakaड़ chalake idhara udhara,
kabhI giratA kabhI vo saMbhalatA rahA,
mA.N ko rahatA thA Dara koI lage nA naज़ra,
kAlA gAla pe TIkA lagAtI thI vo,
ho ke basa pyAra ke mircho ko vAra ke,
jalate chUlhe me nisadina girAtI thI vo,
use A.NkhoM se karatI vo ojhala nahIM,
use A.NkhoM se karatI vo ojhala nahIM,
mAM ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


kapaड़e sI sI ke vo AMsU pI pI ke vo,
apane beTe pe khushiyA.N lUTAtI rahI,
abalA kI bebasI karake phAkAkashI,
bhUkhI khuda raha ke usako khilAtI rahI,
dina guज़rate rahe ro ro kaTate rahe,
kabhI bachche ko gama nA thA karane diyA,
chAhe lAchAra thI duHkha se do chAra thI,
sAyA dukho kA usape nA paड़ne diyA,
mana meM thA hausalA kala ko ho ke baड़A,
mere kadamo meM khushiyAM bIChA degA ye,
achChe dina AeMge dUra gama jAeMge,
mere kAMTo ko kaliyA.N banA degA ye,
ambe maiyA ke dara usakA karane shukara,
sAtha beTe ke eka dina jAuMgI maiM,
ghara meM Ae bahu pariyoM sI hUbahU,
mAMga mannata bhavAnI se AUMgI maiM,
dUra mujhase merI aba to maMज़ila nahIM,
dUra mujhase merI aba to maMज़ila nahIM
mAM ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


de ke mamatA dulAra chAva kara beshumAra,
roज़ sapane hI sapane saMjotI rahI,
kabhI mu.Nha chumatI usa ko le jhUmatI,
chAhe parade meM nishadina hI rotI rahI,
tArA A.NkhoM kA vo mA.N kA pyArA thA jo,
vakta ke sAtha eka dina baड़A ho gayA,
mA.N ke balidAna kI koI kadara nA rahI,
burI saMgata kI daladala meM vo kho gayA,
eaibo se ghira gayA isa kadara gira gayA,
gAliyA.N taka thA mA.N ko sunAne lagA,
mehanato kA jo dhana eka chaMDAla bana,
behayAI se vo thA luTAne lagA,
maiyA rotI rahI Ahe bharI rahI,
hAya sochA thA kyA aura kyA ho gayA,
sapanA TuTA hai kyoM bhAgya phuTA hai kyoM,
kyoM bhalAiyoM kA badalA burA ho gayA,
chAha jo thA huA usa ko hAsila nahI
mAM ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


vo durAchArI bana ho gayA badachalana,
phaMsa gayA galata laड़kI ke prema jAla meM,
jitanA chillAtI mA.N usako samajhatI mA.N,
utanA jyAdA vo DUba thA jaMjAla meM,
roja laड़kI se mila usakA kahatA thA dila,
tujha se shAdI rachAne ko jI chAhatA,
tujhe dulhana banA DolI meM biThA,
ghara apane le jAne ko jI chAhatA,
tere sara kI kasama mere pyAre sanama,
tere bina aba to mujha se jiyA jAe nA,
tuma ko jo karU.N tujhape jA vAra dU.N,
para judAI kA viSha ye piyA jAye nA
laड़kI ne kahA gara mujhase vaफ़A,
dila apanI tU mA.N ke mujhe lA ke de,
jo tU itanA kare merA vAdA hai ye,
to maI jAuMgI shAna se ghara meM tere,
baड़A AsAna hai kAma mushkila nahIM
mAM ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


a.NdhA ho pyAra meM jhUThe aitabAra meM,
hAya leke ChurI apane ghara A gayA,
mA.N ko kuCha nA patA hone vAlA hai kyA,
beTA DhAne ko kyA hai kahara A gayA,
mA.N ne roज़ kI taraha khAnA lAke diyA,
aura sau sau duAe bhI dene lagI,
lAla samajho mere sadake jAUM tere,
sachchI mamatA balAeM thI lene lagI,
batA shaitAna thA huA haivAna thA,
jhUThI ulphata mA.N kI khushI jala gayI,
janma jisane diyA dUdha jisakA piyA,
usake dila pe hI usakI ChurI chala gayI,
khUna mA.N kA piyo beTA juga juga jiyo,
terI harakata se mAtA kA mana khila gayA,
marate marate yahI mA.N ne AvAja dI,
merI mamatA kA mujhako sIlA mila gayA,
apane kAtila ko samajhe jo kAtila nahIM
mAM ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


behayA berahama karake aisA karama,
bhAgA laड़kI ke ghara thA chalA jA rahA,
jo thA vAdA kiyA vo nibhA hai diyA,
apanI makkArI para thA vo itarA rahA,
chalate chalate tabhI usako Thokara lagI,
aura dharatI pe mu.Nha ke vo bala gira gayA,
hAtho se phisala gayA mA.N kA vo dila,
itanA mA.N kI duAo kA phala gira gayA,
bolA mAtA kA dila mere lAla saMbhala,
koI terI vaफ़A meM khoMTa to nahIM,
terA hoe re bhalA mujhe sacha sacha batA
kahI tujha ko lagI koI choMTa to nahIM,
mere dila ko uThA dila ko dila se lagA,
isa dila meM baड़A pyAra tere lie,
dila haradama merA detA dila se duA,
dila ye kurbAna sau bAra tere lie,
mA.N rahama dila hai tujha jaisI saMgadila nahIM,
mAM ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


leke thoड़A sA dama beakala besharama,
dila mA.N kA uThA ke chalA vo gayA,
khUMkhAra vo pashu DAla mA.N kA lahU,
karanA raushana vo chAhe vaफ़A kA diyA,
premikA ke vo ghara phakra se pahuMchakara,
bolA mA.N kA maiM dila ye lAyA merI jAna,
isa jahA.N meM kahI koI mujhasA nahIM,
maiMne kara liyA pAsa ye imtehAna,
pAgalapana dekhakara bolI vo chIkhakara,
are vahashI dariMde ye kyA kara diyA,
dharatI phaTa jAegI pralaya A jAegI,
tUne mamatA ko jaga meM tabAha kara diyA
tere jaise agara hue aura bhI bashara,
mA.N beTo ko degI janama nA kabhI,
ronA AtA mujhe lAkha lAnata tujhe,
mere ghara se o jAlima nikala jA abhI,
tU mere pyAra ke aba to kAbila nahIM
mAM ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


usakI phaTakAra se lAnatoM kI mAra se,
sara piTa ke kalaMkI vo rone lagA,
maiMne kyA kara diyA khUna mA.N kA kiyA,
apane kiye pe sharmasAra hone lagA,
mA.N kA dila dekhakara mAthe ko Tekakara,
bolA he jananI maiyA mujhe mAफ़ kara,
maiM hU.N pApI baड़A sara jhukAe khaड़A,
ho sake to ye cholA merA sAफ़ kara,
aba maiM jAUM kahA.N mu.Nha ChupAU kahA.N,
maiMne khuda ko gunAhoM meM garka kara liyA,
tU to nirdoSha mA.N tujhasA koI kahA.N,
maiMne jIvana ye apanA naraka kara liyA,
jo kiyA socha kara bAlo ko nocha kara,
vo jamI pe thA sara ko paTakane lagA,
loga dhikkArate patthara bhI mArate,
vo pAgala ho dara dara bhaTakane lagA,
sabhI kahate ye mAफ़I ke kAbila nahIM
mA.N ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


beड़iyo meM jakaड़ pulisa le gayI pakaड़,
mauta sAmane khaड़I dekha vo Dara gayA,
khaupha itanA baढ़ jo vo saha nA sakA,
pAgala khAne meM ro ro ke vo mara gayA,
mA.N ke bhakto suno isase kuCha sabaka lo,
dila bhUle se mA.N kA dukhAnA nahIM,
ye samajha lo sabhI mA.N ne Aha jo bharI,
loka paraloka kahI bhI ThikAnA nahIM,
ambe mA.N ke bhavana pIChe rakhanA kadama,
pahale ghara baiThI mA.N ke charaNa chuma lo,
usakI AshISha le mamatA chunarI tale,
sachchI jannata ke karake darasha jhUma lo,
ghara meM bhUkhI hai mA.N bahAra laMgara lagA,
aise iMsA kabhI bakshe jAte nahIM,
mA.N ko pIड़A se bhara jA ke dAtI ke dara,
sherovAlI kA vo pyAra pAte nahIM,
mA.N sA nirdoSha guru koI kAmila nahIM,
Bhajan Diary Lyrics,
mA.N ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||


isase baढ़ ke koI shaya bhI,
komala nahIM,
mA.N ke dila jaisA,
duniyA meM koI dila nahIM,
mA.N kA dila, mA.N kA dila,
mA.N kA dila, mA.N kA dila||

Singer Sonu Nigam
Upload By Singer Yogesh Govindani
7999175040

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं भजन Video

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं भजन Video

Browse Temples in India