हनुमान चालीसा (हिंदी)

Hindi translation of Hanuman Chalisa श्री गुरु चरण सरोज रज,निज मनु मुकुर सुधारि।बरनऊँ रघुबर बिमल जसु,जो दायकु फल चारि॥बुद्धिहीन तनु जानिके,सुमिरौ पवन कुमार।बल बुधि विद्या देहु मोहि,हरहु कलेस विकार॥ सद्गुरु के चरण कमलों की धूल से अपने मन रूपी दर्पण को स्वच्छ कर, श्रीराम के दोषरहित यश का वर्णन करता हूँ जो धर्म, अर्थ, काम […]