Posted inBhajans

झूठी माया काया पर Lyrics | Bhajans | Bhakti Songs

झूठी माया काया पर Lyrics झूठी माया काया पर Lyrics (Hindi) झूठी माया काया पर क्यों इतना करे गुमान, माटी तेरा मूल है बन्दे कर्म तेरी पहचान, उची पगड़ी बांध के मूरख दिखलाये क्यों शान, जिस को चाहे बाबा साई उसको मिले सम्मान, राजा हो जा रंक हो कोई निर्धन या धनवान, साई के दरबार […]