धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही लिरिक्स

dhere dheere akhiyan maa khol rahi hai

धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही लिरिक्स (हिन्दी)

धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही है
लगता है मैया कुछ बोल रही है,
धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही है

दुनिया के नजारे तो बेजान लगते
सूरज चंदा कोडी के समान लगते,
आत्मा में अमृत घोल रही है
लगता है मैया कुछ बोल रही है,

आएगी जरुर मैया आज समाने अपने भगतो का मैया हाथ थाम ने,
बस मिलने का मोका ये टटोल रही है
लगता है मैया कुछ बोल रही है,

वनवारी एसी तकदीर चाहिए आत्मा में एसी तस्वीर चाहिए
ऐसा ये असर दिल पे छोड़ रही है
लगता है मैया कुछ बोल रही है,

Download PDF (धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही)

धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही

Download PDF: धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही

धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही Lyrics Transliteration (English)

dhIre dhIre akhiyA.N mA.N khola rahI hai
lagatA hai maiyA kuCha bola rahI hai,
dhIre dhIre akhiyA.N mA.N khola rahI hai

duniyA ke najAre to bejAna lagate
sUraja chaMdA koDI ke samAna lagate,
AtmA meM amRRita ghola rahI hai
lagatA hai maiyA kuCha bola rahI hai,

AegI jarura maiyA Aja samAne apane bhagato kA maiyA hAtha thAma ne,
basa milane kA mokA ye TaTola rahI hai
lagatA hai maiyA kuCha bola rahI hai,

vanavArI esI takadIra chAhie AtmA meM esI tasvIra chAhie
aisA ye asara dila pe ChoDa़ rahI hai
lagatA hai maiyA kuCha bola rahI hai,

धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही Video

धीरे धीरे अखियाँ माँ खोल रही Video

Pahari Mata Bhajan: Dhire Dhire Ankhiyan Maa Khol Rahi Hai
Singer: Saurabh-Madhukar
Lyricist: Jai Shankar Chaudhary (Banwari Ji)
Music Label: Sur Saurabh Industries
Contact for Enquiries SM Team: 900-666-6665 | 74-500-55555

Browse Temples in India