मुझको भी श्याम चरणों से लगा ले भजन लिरिक्स

मुझको भी श्याम,
चरणों से लगा ले,
डोल रही नैया,
डोल रही नैया,
किनारे तू लगा दे,
मुझकों भी श्याम,
चरणों से लगा ले।।

आस लेके आया हूँ,
दर पे तुम्हारे,
सुन ले तू अर्जी मेरी,
हारे के सहारे,
परिवार मेरा,
परिवार मेरा,
तेरे हवाले,
मुझकों भी श्याम,
चरणों से लगा ले।।



सुना है जो खाटू,
पहली बार आए,
बिगड़ा मुक्कदर उसका,
तू पल में बनाए,
अँधेरा सी जिंदगी को,
अँधेरा सी जिंदगी को,
रौशनी दिखा दे,
मुझकों भी श्याम,
चरणों से लगा ले।।



मोरछड़ी का झाड़ा,
बड़ा ही कमाल है,
जिसको लगे वो हो,
जाए मालामाल है,
किस्मत की रेखा,
किस्मत की रेखा,
‘साहनी’ की जगा दे,
मुझकों भी श्याम,
चरणों से लगा ले।



मुझको भी श्याम,
चरणों से लगा ले,
डोल रही नैया,
डोल रही नैया,
किनारे तू लगा दे,
मुझकों भी श्याम,
चरणों से लगा ले।।